Breaking News New

 03 Oct  End Game Dhruva:  is Released on Raj Comics Android App... 

Set 2 of 2015


Raj Comics Set 2 of 2015


Note: This post was created on March 2015 and last updated on 28 April 2015.

Raj Comics Set 2 of 2015


Hi Friends,
The Good news is Pre-Orders for Set 2 2015 Started now (Shipping from 4 May 2015).
And the bad news Sarvmanthan is not coming with this set and the four old comics (Parkaale, Chakra, Vinaash and Sarvnaash) are also not in the list. 

Now the New Set has following 8 Comics and 3 Books :

1.  FLASHBACK (SPECIAL COLLECTORS EDITION)
2.  MAUT KA MARATHON (SPECIAL COLLECTORS EDITION)
3.  ANOKHA CHOR
4.  DOGA DIGEST 13

5.  FLASHBACK (Paper Back Edition)
6.  MAUT KA MARATHON (Paper Back Edition)
7.  RAMA (English)
8.  GAUTAM BUDDHA (English)
9.  HUMSHAKL (Anil Mohan)

In addition two old comics has been reprinted also:

10.  VISHKANYA (Nagraj)
11.  CRIME KING (Nagraj)

All comics has been published on Glossy Art Paper (Reprinted Also).
On the Pre-Order of Rs 600 / -  Free Gifts are:


Poster Dhruva-Folded (long) Size A3
Vintage Magnet Sticker Dhruva
Dhruva NotePad
Super Commando Dhruva Stickers
Doga Tin Badge
Flashback Sketch Card



All Free Gifts are in limited quantities and will be off when finished.
On the first 500 Orders of FLASHBACK (SPECIAL COLLECTORS EDITION) you will get our beloved Mr. Anupam Sinha's autographed copy.
And if you order Rs 1000/- then you can use the coupons Codes of Nagraj and Doga's T-Shirt .

Note: 
Autographed Flashback SCE and A21 Coupon time Extended :
 
Read Here




This Will Redirected you to Raj Comics Official site, Pre-orders Page.

-----------------------

Set 2 of 2015 Comics Details:


FLASHBACK                                                   


Format: Printed
Issue No: SPCL-2583-H
Language: Hindi
Author: Anupam Sinha
Penciler: Anupam Sinha
Inker: Vinod Kumar
Colorist: Shadab, Basant
Pages: 96
Price: Rs 90.00


फ्लेशबैक– 2583    इस बार सुपर कमांडो ध्रुव की यादें, उसका बचपन ही लेने आया है उससे टक्कर! क्या ध्रुव अपने अतीत से जीत पाएगा या इस बार उसकी जिंदगी पर भारी पडेगा उसका फ्लेशबैक!



MAUT KA MARATHON

Format: Printed
Issue No: SPCL-2585-H
Language: Hindi
Author: Anurag Kumar Singh
Penciler: Hemant Kumar 
Inker: Vinod Kumar, IshwarArt
Colorist: Bhakt Ranjan, MohanPrabhu
Price: Rs 60.00 
Pages: 64

मौत का मैराथन -सर्वनायक विस्तार-2585   राजनगर में एक बार फिर खेला जा रहा है मौत का खूनी खेल! 
किसने किया है इसका आयोजन और कौन जीतेगा यह 'मौत का मैराथन'?


ANOKHA CHOR
                                                      
 
Format: Printed
Issue No: SPCL-2582-H
Language: Hindi
Author: Sushant Panda
Penciler: Sushant Panda
Inker: Sushant Panda
Colorist: Basant Panda
Price: Rs 40.00
Pages: 48


अनोखा चोर-2582 बांकेलाल को मिला एक एक अनोखा चोर जोकि एक मन्त्र बोलते ही किसी का भी माल चुरा सकता है! बांकेलाल को सूझी एक गजब की युक्ति उसने चोर से चोरी करवा लिए!




DOGA DIGEST -13                                                

Format: Printed
Issue No: DGST-0102-H
Language: Hindi
Author: Tarun Kumar Wahi, Sanjay Gupta,
Penciler: Dheeraj Verma, Anupam Sinha, Man
Inker: Vinod Kumar
Colorist: Sunil-Pandey
Price: Rs 160.00
Pages: 192

दौ फौलाद-89  सुपर कॉप इंस्पेक्टर स्टील को कुछ विध्वंसक हथियारों की सुरक्षा के लिये राजनगर से मुम्बई भेजा गया। डोगा ले उड़ा वह सारे हथियार और इंस्पेक्टर स्टील अरैस्ट वारंट लेकर उसके पीछे पड़ गया। कानून के फौलाद सुपर कॉप इंस्पेक्टर स्टील ने डोगा नाम के फौलाद को गिरफ्तार करने की ऐसी चाल चली कि डोगा के भी पसीने छूट गये।
वर्दी और बदूंक -232  आंतकवादी गुप अलफसान के जेल में बदं साथी ममूद भाई को छुडा़ने के लिये आतंकवादियों ने राज नगर में मचाया उत्पात। आंतकवादियों के उत्पात को रोकने आया सुपर कॉप इंस्पेक्टर स्टील और आया मुम्बई का बाप डोगा भी यानी कि एक तरफ थी इंस्पेक्टर स्टील की वर्दी की ताकत दूसरी तरफ थी डोगा की बदूंक की गोली, जो मुजरिमों का सीना फाड़ देना चाहती थी। कानून की नजर में तो खुद डोगा भी एक मुजरिम ही था। तो क्या हुआ वर्दी और बंदूक के इस टकराव का अजांम?
वेलकम डोगा वेलकम स्टील -255 मुंबई की न्यूक्लियर रिसर्च लैब में डॉक्टर प्रलय ने बनाया एक
भयानक हथियार! लैब के एक ईमानदार वैज्ञानिक प्रभात जोशी ने जान लिया उसका राज! डॉक्टर प्रलय के गुडों ने प्रभात जोशी को मौत देने में कोई कसर नहीं छोड़ी लेकिन डोगा ने प्रभात जोशी को बचा लिया! प्रभात जोशी पहुंच गया अपने परिवार के पास राजनगर! लेकिन मौत ने वहां भी उसका पीछा नहीं छोड़ा! मरते मरते उसने सारा राज इन्स्पेक्टर स्टील को बता दिया और उसने इन्स्पेक्टर स्टील से वायदा लिया कि वो हर हाल में देश को डॉक्टर प्रलय के पंजे से बचाएगा! इन्स्पेक्टर स्टील पहुंच गया मुंबई जहां डोगा की मदद से उसने डॉक्टर प्रलय को मात दी!





CRIME KING (Nagraj)
                                                             
Format: Printed
Issue No: SPCL-0065-H
Language: Hindi
Author: Anupam Sinha
Penciler: Anupam Sinha
Inker: Vitthal Kamble
Colorist: N/A
Pages: 64
Price: Rs 60.00
Rs 54.00 You Save: 10.00%

क्राइम किंग-0065 नागराज की महानगर में राज के रूप में नए जीवन की शुरुआत हुई! और यह शुरुआत साबित होने जा रही थी  उसका अंतिम अध्याय भी! क्योंकि जिस सुपर विलेन से उसका सामना हुआ था वो था तो एक अपाहिज मगर उसकी शक्तियों के सामने नागराज खुद को अपाहिज समझने को मजबूर हो गया! जो खुद को कहता था क्राईम किंग!



VISHKANYA (Nagraj)
                                                   
Format: Printed
Issue No: SPCL-0071-H
Language: Hindi
Author: Anupam Sinha, Tarun Kumar Wahi
Penciler: Anupam Sinha
Inker: Vitthal Kamble, Vinod Kumar
Colorist: SUNIL KUMAR
Price: Rs 60.00
Rs 54.00 You Save: 10.00%


विषकन्या- 0071 जो नागराज की शक्तियाँ खींच कर उसका वार नागराज पर ही करने में सक्षम थी! 
आखिर कहाँ से आई थी वो और क्यों लेना चाहती थी नागराज के प्राण? अब ये या तो वो जानता था 
जिसने विषकन्या को बनाया था! या खुद विषकन्या!




This Will Redirected you to Raj Comics Official site, Pre-Orders Page.


Buy Comics and Save Comics Industry
Don't Let Our Super-Heroes Die


Share on Google Plus
Author-avatar

Hi Friends,
To reach the entire world Our Desi Heroes need your support.
Share This ---- As Much As You Can.
Keep the JANNON alive

 
Subscribe Us via Email :
    Blogger Comment  
    Facebook Comment  

0 comments:

Post a Comment