Breaking News New

 03 Oct  End Game Dhruva:  is Released on Raj Comics Android App... 

Set 4 of 2015

Raj Comics Set 4 of 2015

Raj Comics Set 4 of 2015 Pre-Orders Begun


Pre-Orders and Shipping of Set 4 has begun now. Set 4 (Kshatipurti Set) is released with 6 Comics. 4 New (Paperback/Normal Edition) + 2 Old Reprint as Digest. 

Comics list Set 4 of 2015 :

  • Kshatipurti (Kshatipurti Series Nagraj) [200th Comics of Nagraj]
  • Hibernation (Dhruv, Insp.Steel) (Rajnagar Rakshak-2)
  • Parkaalo ki Dharti  (Multistar) (Aakhiri Series)
  • Doga Bekabu (Doga Unmulan Series)
  • Nagraj Digest -34 (Dvinayak -4) (Avshesh, Chunouti, Hedron)   
  • Dhruv Digest -13 (Circus, Hatyari Rashiyan, Moat K Chehre, Commander Natasha)

Kshatipurti, Hibernation and Avshesh (Nagraj Digest -34/Dvinayak -4) are available also in Special Collectors Editions.


A few old reissues- Yugandar, Atma Ke Chor, Vampire, Suprema, Do Foulad, Saavdhan Doga, Kon Bada Jallad, Kaliyug, Vardi or Bandook, Welcome Doga Welcome Steel and Carvaan in hindi are also available on Raj Comics online store. You can order them along with the new set.


Get Your copy from RC online Store


Note: This Will Redirected you to Raj Comics Official site.

----------------------------------
Complete Details:
----------------------------------

KSHATIPOORTI

Format: Printed
Issue No: SPCL-2587-H
Language: Hindi
Author: Nitin Mishra
Penciler: Hemant Kumar
Inker: Vinod Kumar, IshwarArt
Colorist: Bhakt Ranjan, Shadab, sunil, Bas
Pages: 96
Price: Rs 90.00 



क्षतिपूर्ति-2587# मानव जाति और इच्छाधारी नाग जाति के उद्धार के लिए प्राणाहुति दे चुका है आतंकहर्ता नागराज! अब विश्व पर फिर मंडरा रहा है आतंकवाद का गंभीर खतरा! कौन लेगा अब नागराज का स्थान? कौन है इतना काबिल महाबली जो कर पायेगा नागराज की क्षतिपूर्ति?



 HIBERNATION

Format: Printed
Issue No: SPCL-2586-H
Language: Hindi
Author: Stuti Mishra
Penciler: Ravi, Sushant Panda
Inker: Vinod, Swati
Colorist: Sanjay Sulania, Sunil Dusturiya
Pages: 64
Price: Rs 60.00 


हाइबरनेशन-2586# राजनगर हो चुका है तबाह! राजनगर के दो जांबाज रक्षकों सुपर कमांडो ध्रुव और इन्स्पेक्टर स्टील ने खुद अपनी आंखों के सामने इस सुन्दर शहर को धूल में मिलते देखा! क्या रहस्यमयी चाल थी वो जिसने बना डाला हंसते खेलते राजनगर को सुनसान और खौफनाक हाइबरनेशन?


PARKALON KI DHARTI

Format: Printed
Issue No: SPCL-2592-H
Language: Hindi
Author: Nitin Mishra
Penciler: Dheeraj Verma
Inker:
Colorist: Bhakt Ranjan
Pages: 32
Price: Rs 40.00 


परकालों की धरती-2592# पूरी दुनिया में जीवित बचे हैं केवल दो ही प्राणी! सुपर कमांडो ध्रुव और वंडरमेन परमाणु! इधर पृथ्वी पर यह दोनों इस अनजाने खतरे से जूझ रहे थे और उधर किसी अनजान गृह पर हजारों पृथ्वीवासियों के संग खुद को मौत के मुंह में फंसा पाते हैं जंगल का जल्लाद भेड़िया और नारी रक्षा की प्रतीक शक्ति! क्यों और कैसे हो गयी पृथ्वी खाली और क्यों और कैसे पहुंचे पृथ्वीवासी उस खतरनाक जगह पर जो बन गयी उनके लिए परकालों की धरती?
 

DOGA BEKABU

Format: Printed
Issue No: SPCL-2593-H
Language: Hindi
Author: Mandar Gangele, Sudeep Menon
Penciler: Dildeep
Inker: Vinod Kumar, IshwarArt
Colorist: Shadab
Pages: 32
Price: Rs 40.00


डोगा बेकाबू-2593# डोगा के जीवन में कुछ ऐसा घटा कि खो बैठा वो अपना दिमागी संतुलन! ऐसा क्या आघात हुआ कि हो गया है आज मुंबई का रक्षक डोगा बेकाबू?
 


NAGRAJ DIGEST 34

Format: Printed
Issue No: DGST-0107-H
Language: Hindi
Author: Anupam Sinha, Jolly Sinha
Penciler: Anupam Sinha
Inker: Sagar Thapa, Vinit Siddharth, Ga
Colorist: Sunil, Shadab
Pages: 252
Price: Rs 200.00 


अवशेष-2430# राजनगर के समुद्र से बाहर निकलते हें एक पुरानी नगरी के अवशेष. इन अवशेषों में घटने लगती हें रहस्मयी घटनाएँ जिसका असर पड़  रहा हे राजनगर और महानगर के निवासियों की जिंदगी पर. नागराज और ध्रुव महानगर और राजनगर को बचाने के लिए पहुँच जाते हें उन अवशेषों पर जो पूरी दुनिया को बनाने पर तुले हें अवशेष!
चुनौती-2445# समुद्र का सीना फाड़कर बाहर निकले हैं एक पुरानी नगरी के अवशेष और दुनिया पर टूट पड़ती हैं अनोखी मुसीबतें. नागराज और ध्रुव जब इस समस्या के समाधान के लिए इन अवशेषों पर जाते हैं तब घटता है  कुछ ऐसा भयानक कि एक नागराज के सामने होते हैं कई नागराज और एक ध्रुव के सामने होते हैं कई ध्रुव और सभी मिल कर बन गए हैं नागराज, ध्रुव और पृथ्वी के अस्तित्व के लिए चुन्नोती!
हैड्रोन-2449# पृथ्वी पर जीवन की शुरुआत कैसे हुई? इस जिज्ञासा को शांत करने के लिए विज्ञानिकों ने दी ईश्वरीय नियमों को चुन्नोती और बना डाला हैड्रोन कोलाइडर. इस परिक्षण से ब्लैकहोल का निर्माण हो गया है और ब्रह्माण्ड के विभिन्न आयाम एक दूसरे में समाने लगे हैं. हमारे आयाम की धरती पर ब्रह्माण्ड के हर आयाम के नागराज और ध्रुव आ पहुंचे, पृथ्वी वासियों को उनकी गलती की सजा देने के लिए. हमारे आयाम की धरती का ध्रुव खुद समा गया है ब्लैकहोल में और नागराज को घेर लिया है अन्य आयामों के नागराजों ने. क्या ब्लैकहोल मे समाती धरती को बचा पायेगा नागराज? क्या ब्लैकहोल से वापस आ पायेगा ध्रुव? ब्रह्माण्ड की सबसे ताकतवर शक्ति से टकराए हैं इस बार नागराज और सुपर कमांडो ध्रुव.


DHRUVA DIGEST 13

Format: Printed
Issue No: DGST-0108-H
Language: Hindi
Author: Anupam Sinha
Penciler: Anupam Sinha
Inker: Vinod Kumar, Vittal Kamble
Colorist: Sunil Pandey
Pages: 272
Price: Rs 200.00

सर्कस-0047# सर्कस की कला को बढ़ावा देने के उद्देश्य से मरकरी सर्कस में होता है सुपर कमांडो ध्रुव का एक स्पेशल शो। जिसके बाद शुरू होता है एक अनोखा घटनाक्रम जिसका अंत होता है एक ऐसे मौत के जाल पे जहां ध्रुव बुरी तरह फंस जाता है। तो क्या जिस सर्कस ने ध्रुव को जन्म दिया उसका अंत भी बनेगा वही सर्कस? 
हत्यारी राशियां-0053# इस बार ध्रुव का सामना है एक ऐसे सुपर विलेन से जिसने ज्योतिषी को बनाया है अपना हथियार। और उसने तैयार कर ली है एक ऐसी मौत जिससे ध्रुव हरगिज नहीं बच सकता। तो क्या अपने ही भाग्य से लड़ कर जीत पायेगा ध्रुव या उसकी मौत बन जायेंगी ये हत्यारी राशियां। 
मौत के चेहरे-0058# इस बार ध्रुव का सामना है एक ऐसे परग्रही वैज्ञानिक क्यूसरी से जिसने प्रकृति की शक्तियों को अपने वश में कर लिया है और जिसने धनंजय जैसे उन्नत विज्ञान के स्वामी को भी अपने विज्ञान से भ्रमित कर दिया है। क्या ध्रुव अपने दिमाग के बल से इसे मात दे पायेगा या उसकी मौत बनेंगे ये मौत के चेहरे। 
कमांडर नताशा-0064# ध्रुव की ऋचा की तरफ बढ़ती नजदीकी और इस भ्रष्ट समाज के खोखले सच ने नताशा को इस कदर तोड़ दिया कि उसने ठान लिया कि वो छोड़ देगी इस सभ्य समाज का दामन और बन जायेगी फिर से रोबो आर्मी की आर्मी कमांडर, कमांडर नताशा।


Share on Google Plus
Author-avatar

Hi Friends,
To reach the entire world Our Desi Heroes need your support.
Share This ---- As Much As You Can.
Keep the JANNON alive

 
Subscribe Us via Email :
    Blogger Comment  
    Facebook Comment  

0 comments:

Post a Comment