Breaking News New

 03 Oct  End Game Dhruva:  is Released on Raj Comics Android App... 

Set 3 of 2015

Set 3 of 2015 

Raj Comics Set 3 of 2015


Hi Friends,

Finally Pre-Orders for Set 3 of 2015 begun now. New Set is going to release with 8 Comics = 2 Special Collector Editions + 3 New (Paperback/Normal Edition) + 3 Old Reprint as Digest.
Shipping will be start from 22 June 2015(Could be Start earlier). 


Set 3 has the following new comics:

  • Sarvmanthan Special Collector Edition
  • Saavdhaan Doga Special Collector Edition
  • Sarvmanthan  Paperback Edition (Normal)
  • Aakhiri Rakshak
  • Doga Nirmulak
  • Dhruv Digest -11
  • Nagraj Digest -17
  • Doga Digest -18

In addition five more comics has been reprinted, which are available on Raj Comics Online Store. 
Additional Comics are:


  • Rajnagar Ki Tabahi -Nagraj + Dhruv
  • Chumba Ka Charavyuh -Dhruv
  • Doctor Virus -Dhruv
  • Saamri Ki Jawaala -Dhruv
  • Nishachar -Dhruv + Doga  



Free shipping on all orders above Rs 500 for a limited time only. 
And Free Gifts which are in limited number will be given to the first 850 orders.
First come first serve, So Hurry Up Guy's, Get Your copy from RC online Store
Order Set 3 of 2015


Note: This Will Redirected you to Raj Comics Official site.

----------------------------------

Set 3 of 2015 Details:


SARVAMANTHAN SPECIAL COLLECTORS EDITION:  

Format: Printed
Issue No: SPHB-2584-H    
Language: Hindi
Author: Nitin Mishra
Penciler: Sushant Panda
Inker: Vinod Kumar, IshwarArt, Swati
Colorist: Bhakt Ranjan, Basant
Pages: 96
Price: Rs 110.00

               

सर्वमंथन-2584 # सर्वनायक प्रतियोगिता पहुंच गयी है अपने चरम पर! अब आमने सामने हैं देशभक्त डिटेक्टिव तिरंगा और शुक्राल! दोनों ही महानायक विजेता बनने के इस टकराव में अपनी ही जीवनरक्षा के चक्रव्यूह में जा फंसे हैं! ना जाने इनमें से कौन तोड़ पाएगा इस चक्रव्यूह को या गवाएंगे दोनों ही अपनी जान! उधर विश्वरक्षक नागराज और महाबली भोकाल अपने ही दल के साथियों की मौत के दूत बने हुए हैं! ना जाने क्या होगा अंजाम पल प्रतिपल भयंकर होते जा रहे इस सर्वमंथन का?


SAAVDHAN DOGA SPECIAL COLLECTORS EDITION:

Format: Printed
Issue No: SPCL-2588-H
Language: Hindi
Author: Tarun Kumar Wahi, Vivek Mohan
Penciler: Dheeraj Verma
Inker: Manu, Rajender Dhoni
Colorist: Sunil Kumar
Pages: 136
Price: Rs 140.00

सावधान डोगा-0123# मुम्बई के किंग पिन माईकल की तलाश डोगा को ले गई आसाम के जंगलों में जहाँ कदम-कदम पर जंगल की विचित्र और खतरनाक शक्तियाँ उसकी मौत के लिए मुंह बाए खड़ी है और कह रही है सावधान डोगा! 
कौन बड़ा जल्लाद-0124# मुम्बई के किंग पिन माईकल की तलाश डोगा को ले गई आसाम के जंगलों में! माईकल जोकि जेन का भाई है और जिसे संरक्षण प्राप्त है जंगल के जल्लाद कोबी और भेड़िया का! अब डोगा को छीननी है माईकल की सांसे! और कोबी और भेड़िया के रहते ये सम्भव नहीं! अब जंग ही फैसला करेगी कि इनमें कौन बड़ा जल्लाद?


DOGA NIRMOOLAK:

 

Format: Printed
Issue No: SPCL-2589-H
Language: Hindi
Author: Mandar Gangele, Sudeep Menon
Penciler: Dildeep
Inker: Vinod Kumar, IshwarArt
Colorist: Bhakt Ranjan
Pages: 32
Price: Rs 40.00 


 
डोगा निर्मूलक-2589# मुंबई में डोगा की सत्ता को चुनौती देने आ गया है निर्मूलक, जो समस्याओं को जड़ से उखाड़ने का नाटक नहीं करता! वो जड़ों को भी मसल देता है और उस जमीन को भी बंजर कर देता है!


AKHIRI RAKSHAK:

Format: Printed
Issue No: SPCL-2590-H
Language: Hindi
Author: Nitin Mishra
Penciler: Dheeraj Verma
Inker:
Colorist: Bhakt Ranjan
Pages: 32
Price: Rs 40.00

 
आखिरी रक्षक-#2590 हो चुकी थी पूरी दिल्ली खाली, हो चुका था पूरा राजनगर सुनसान! हो चुका था पूरा भारतवर्ष वीरान, नहीं बचा था पूरी दुनिया में एक भी जीवित प्राणी! बचे थे तो केवल दो, सुपर कमांडो ध्रुव और वंडरमेन परमाणु! सुरक्षा लेने के लिए कोई नहीं था, फिर भी पृथ्वी के आकाश पर किसी अनजानी आस लिए उड़ रहे थे दो 'आखिरी रक्षक'!



NAGRAJ DIGEST 17:
Format: Printed
Issue No: DGST-0106-H
Language: Hindi
Author: Anupam Sinha, Tarun Kumar Wahi
Penciler: Anupam Sinha
Inker: Vitthal Kamble, Vinod Kumar
Colorist: Sunil Kumar
Pages: 136
Price: Rs 120.00


 
क्राइम किंग-0065  नागराज की महानगर में राज के रूप में नए जीवन की शुरुआत हुई! और यह शुरुआत साबित होने जा रही थी  उसका अंतिम अध्याय भी! क्योंकि जिस सुपर विलेन से उसका सामना हुआ था वो था तो एक अपाहिज मगर उसकी शक्तियों के सामने नागराज खुद को अपाहिज समझने को मजबूर हो गया! जो खुद को कहता था क्राईम किंग! 
विषकन्या- 0071 जो नागराज की शक्तियाँ खींच कर उसका वार नागराज पर ही करने में सक्षम थी! आखिर कहाँ से आई थी वो और क्यों लेना चाहती थी नागराज के प्राण? अब ये या तो वो जानता था जिसने विषकन्या को बनाया था! या खुद विषकन्या!


DHRUVA DIGEST 11:

Format: Printed
Issue No: DGST-0105-H
Language: Hindi
Author: Anupam Sinha
Penciler: Anupam Sinha
Inker: Anupam Sinha
Colorist: Sunil Kumar
Pages: 204
Price: Rs 160.00 


 
आत्मा के चोर-0024# राजनगर में होती है एक के बाद एक प्रसिद्ध हस्तियों की हत्या। ध्रुव जब इस मामले की छानबीन करता है तो उसका सामना होता है एक हत्यारी संस्था किलर लीग और एक रहस्यमय चोर से जो चुरा लेता है इंसान की आत्माएं। और अब उस चोर को चाहिए ध्रुव की आत्मा। तो क्या ध्रुव अपनी आत्मा को बचा पायेगा या हो जायेगा उस रहस्यमय 'आत्मा के चोर' का शिकार। 
0028# वैम्पायर ध्रुव का सामना है इस बार खून पीने वाले वैम्पायरों से जो जिसे काट ले वो भी बन जाता है एक रक्त पिशाच। उन्होंने बना लिया है चंडिका को भी अपने जैसा और अब ध्रुव है उनके निशाने पर। क्या ध्रुव उनका आतंक रोक पायेगा या बन जायेगा खुद भी एक वैम्पायर। 
0033# सुप्रीमा ग्रैंड मास्टर रोबो की रोबो आर्मी और सुप्रीमा की किलर लीग के बीच हथियारों की तस्करी को लेकर शुरू हुई खूनी होड़। और इन सबके बीच फंस गए सुपर कमांडो ध्रुव और ब्लैक कैट। सुप्रीमा ने ध्रुव के दिमाग को वश में कर उसे बना लिया अपना मोहरा। तो क्या अब ध्रुव एक अपराधी के हाथ की कठपुतली बन कर रह जायेगा।


DOGA DIGEST 18:

Format: Printed
Issue No: DGST-0103-H
Language: Hindi
Author: Tarun Kumar Wahi, Vivek Mohan
Penciler: Dheeraj Verma
Inker: Manu, Rajender Dhoni
Colorist: Sunil Kumar
Pages: 136
Price: Rs 120.00


 
सावधान डोगा-0123# मुम्बई के किंग पिन माईकल की तलाश डोगा को ले गई आसाम के जंगलों में जहाँ कदम-कदम पर जंगल की विचित्र और खतरनाक शक्तियाँ उसकी मौत के लिए मुंह बाए खड़ी है और कह रही है सावधान डोगा! 
कौन बड़ा जल्लाद-0124# मुम्बई के किंग पिन माईकल की तलाश डोगा को ले गई आसाम के जंगलों में! माईकल जोकि जेन का भाई है और जिसे संरक्षण प्राप्त है जंगल के जल्लाद कोबी और भेड़िया का! अब डोगा को छीननी है माईकल की सांसे! और कोबी और भेड़िया के रहते ये सम्भव नहीं! अब जंग ही फैसला करेगी कि इनमें कौन बड़ा जल्लाद?

Order Set 3 of 2015

From Raj Comics Online Store
Share on Google Plus
Author-avatar

Hi Friends,
To reach the entire world Our Desi Heroes need your support.
Share This ---- As Much As You Can.
Keep the JANNON alive

 
Subscribe Us via Email :
    Blogger Comment  
    Facebook Comment  

0 comments:

Post a Comment